इश्क में डूबी नाबालिग से घर मिलने पहुंचा आशिक, गुस्सा हुआ परिवार तो उठाया ऐसा

इश्क में डूबी नाबालिग से घर मिलने पहुंचा आशिक, गुस्सा हुआ परिवार तो उठाया ऐसा खौफनाक कदम

बिहार के लखीसराय में इश्क में चूर एक नाबालिग लड़की ने हाथ की नस काटकर और कीटनाशक पीकर अपनी जान दे दी। इससे पहले उसका प्रेमी सीधा घर पहुंच गया था और मिलने की जिद कर रहा था।

बिहार के लखीसराय से एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है, जहां इश्क में डूबी एक नाबालिग प्रेमिका ने अपने घर पर प्रेमी के आने के बाद आत्महत्या करने के लिए हाथ की नस काट ली, साथ ही कीटनाशक भी पी लिया। आनन-फानन में उसे अस्पताल ले जाया गया, जहां से उसे इलाज के लिए पटना रेफर कर दिया गया। हालांकि, इस दौरान ही उसकी मौत हो गई और परिवार शव को सीधा घर लेकर चले गए। फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है।

इश्क में डूबी नाबालिग से घर मिलने पहुंचा आशिक

मिली जानकारी के अनुसार, मामला लखीसराय जिला अंतर्गत तेतरहट थाना क्षेत्र का बताया जा रहा है। जहां 17 वर्षीय नाबालिग लड़की लखीसराय शहर में एक प्राइवेट स्कूल की छात्रा थी। उसी स्कूल के एक लड़के से लड़की को प्यार हो गया। प्यार इस कदर परवान पर चढ़ गया कि परिवार वालों के लगातार आपत्ति और विरोध के बावजूद लड़की कुछ मानने को तैयार नहीं हुई। 

इसे भी पढ़ें..  बड़ी खबर: अग्निपथ स्कीम प्रोटेस्ट में नक्सलियों ने जलाई थी ट्रेन! हार्डकोर नक्सली मनश्याम दास पकड़ाया

सोमवार को लड़की का प्रेमी उसके घर पर आ पहुंचा और बात करने की जिद करने लगा। इसपर परिजनों के विरोध के बाद लड़की एकबार फिर गुस्सा हो गई और आत्महत्या को उतारू हो गई। इस दौरान लड़की ने अपने हाथ का नस काट लिया और कीटनाशक खाकर अपनी मौत को आमंत्रण दे बैठी। 

पहले भी जान देने की कर चुकी थी कोशिश
लड़की ने आत्महत्या का यह कोई पहला प्रयास नहीं बल्कि तीसरी बार किया था। बताया जाता है कि इससे पहले भी वह अपने हाथ का नस काट चुकी थी। उस वक्त मामूली इलाज में लड़की की जान बच गई। इसके अलावा एकबार छत से कूदकर भी जान देने की कोशिश की, तब भी वह बच गई थी। हालांकि इस बार लड़की और उसके परिवार वालों की अपनी-अपनी जिद में किशोरी को अपनी जान गंवानी पड़ी। वहीं प्रेमी उसके गांव के बाहर का कोई युवक बताया जा रहा है।

इसे भी पढ़ें..  नक्सली के बयान पर एआइवाइएफ के राज्य सचिव को फंसाना गलत