ताजमहल के कारण हो रहे विवादों के बीच एलोन मस्क का ट्वीट, लोगों ने दिखाना शुरू किया मंदिरों का सौंदर्य

टेस्ला के मालिक एलोन मस्क ने 9 मई को ताजमहल के बारे में ट्वीट करते हुए कहा, ‘यह अद्भुत है, मैंने 2007 में दौरा किया और ताजमहल भी देखा, जो वास्तव में दुनिया का अजूबा है।’ इस पर कई लोग एलोन मस्क को मंदिरों की खूबसूरती दिखाने लगे।

दुनिया के 7 अजुबो में से एक ताजमहल आज अलग-अलग कारणों से सुर्खियों में है। ताजमहल के इतिहास को लेकर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के एक नेता कोर्ट पहुंचे हैं। दावा है कि ताजमहल की सच्चाई 22 कमरों के अंदर बंद है, अगर इन कमरों को खोला गया तो कुछ और ही सच्चाई सामने आएगी। इसी बीच ताजमहल को लेकर दुनिया के सबसे अमीर शख्स एलन मस्क का एक ट्वीट वायरल हो रहा है, जो उन्होंने सोमवार यानी 9 मई को किया।

हाल ही में माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्विटर खरीदने वाले टेस्ला के मालिक एलन मस्क ने 9 मई को ताजमहल के बारे में ट्वीट करते हुए कहा, ‘यह अद्भुत है, मैंने 2007 में दौरा किया और ताजमहल भी देखा, जो वास्तव में दुनिया का एक आश्चर्य है। ‘एलोन मस्क ने यह ट्वीट एक फोटो के जवाब में किया, जो आगरा के लाल किले की बताई जा रही है। Elon Musk के ट्वीट पर कमेंट की बाढ़ आ गई और लोग उन्हें देश के मंदिरों की खूबसूरती के बारे में बताने लगे।

इसे भी पढ़ें..  हिंदू नौ साल का पहला महीना लिखेगा 5 राशियों के लिए सफलता की कहानी

ताजमहल में शिव मंदिर को लेकर विवाद

दरअसल, दुनिया की सबसे खूबसूरत धरोहरों में से एक ताजमहल के इतिहास को लेकर विवाद है। ताजमहल में शिव मंदिर का मामला फिर गरमा गया है। इसी के तहत इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच में एक अर्जी दाखिल की गई है। याचिका में ताजमहल के 22 बंद कमरों से जुड़े राज से पर्दा उठाने की मांग की गई है। बड़ी बात यह है कि ताजमहल में मंदिर होने के दावे को भाजपा नेता ने हवा दी है।

याचिका में क्या है?

भाजपा नेता की याचिका में कहा है, “आदरपूर्वक प्रस्तुत किया जाता है कि कई वर्षों से एक विवाद अपने चरम पर है जो ताजमहल या ताड़ज महल या तेजो महला से संबंधित है।” कुछ हिंदू गुट और प्रख्यात संत इस स्मारक को एक पुराने शिव मंदिर के रूप में दावा कर रहे हैं जो कई इतिहासकारों और तथ्यों द्वारा समर्थित है, हालांकि कई इतिहासकार इसे मुगल सम्राट शाहजहाँ द्वारा निर्मित ताजमहल मानते हैं। कुछ लोगों का यह भी मानना ​​है कि तेजो महालय या ताजमहल एक ज्योतिर्लिंग यानि उत्कृष्ट शिव मंदिरों में से एक प्रतीत होता है। याचिका में कहा गया है, ‘कई इतिहास की किताबों में कहा गया है कि 1212 ई. में राजा परमर्दी देव ने तेजो महालय मंदिर महल (वर्तमान ताजमहल) का निर्माण कराया था। मंदिर बाद में जयपुर के तत्कालीन महाराजा राजा मान सिंह को विरासत में मिला था। उसके बाद संपत्ति राजा जय सिंह द्वारा आयोजित और प्रबंधित की गई, लेकिन शाहजहाँ द्वारा (1632 में) कब्जा कर लिया गया और बाद में शाहजहाँ की पत्नी के स्मारक में बदल दिया गया।’

इसे भी पढ़ें..  Chanakya niti: गधे से भी इंसान सीख सकता है ये तीन बातें! कदम चूमेगी सफलता

क्या है ताजमहल के 22 कमरों का रहस्य?

एक रिपोर्ट के मुताबिक ताजमहल में मुख्य मकबरे और चमेली के फर्श के नीचे 22 कमरे हैं। ये वही 22 कमरे हैं, जो 1934 में आखिरी बार खोले गए थे, यानी आजादी से पहले कमरे खोले गए थे और आजादी के बाद से अब तक 22 कमरे नहीं खोले गए हैं। एक दावे के मुताबिक मुगल काल से ही सभी 22 कमरे बंद हैं। वर्ष 1934 में भी इन्हें केवल निरीक्षण के लिए खोला गया था लेकिन अभिलेखों में इसका उल्लेख नहीं है।