Dhoni's mind did not work in studies, he had come 12th only because of Dhoni's number, now the truth has come to the fore

धोनी का नही चलता था पढ़ाई-लिखाई में दिमाग, आए थे 12वी मात्र धोनी के इतने से ही नम्बर अब जाकर सामने आई सच्चाई

धोनी को आज के समय में पूरी दुनिया में जाना जाता है और सभी इन्हें काफ़ी ज़्यादा पसंद करते है. धोनी एक बहुत ही बड़े बड़े और महान खिलाड़ी है जिन्होंने अपने जीवन में काफ़ी नाम और पैसा कमाया है जिसके चलते आज के समय में धोनी किसी की भी पहचाना की मोहताज नही है जिसके चलते धोनी को आज के समय में देश का बच्चा–बच्चा जानता है. धोनी का खेल का आज के समय में हर कोई दीवाना है. धोनी वर्तमान समय में मीडिया में काफ़ी ज़्यादा सुर्ख़ियों में बने हुए है जिसकी वजह उनका क्रिकेट का सफ़र नही बल्कि उनका निजी जीवन है ऐसा इसलिए क्योंकि सबसे दिमाकदार माने जाने वाले धोनी का पढ़ाई–लिखाई में बिल्कुल भी मन नही लगता था. जी हाँ यह बात बिल्कुल सत्य है और इसी वजह से इस समय हर जगह इनके ही चर्चे है. इस बात के सबूत के तौर पर धोनी के दसवी और 12वी के नम्बर है जिससे साफ़ ज़ाहिर होता है कि धोनी का पढ़ाई–लिखाई में बिल्कुल भी मन नही लगता था. आगे आपको आर्टिकल में धोनी को लेकर हुए इस खुलासे के बारे में विस्तार से बताते है.

धोनी का असली सच आया पूरी दुनिया के सामने, नही लगता था धोनी का पढ़ाई–लिखाई में मन

धोनी का असली सच आया पूरी दुनिया के सामने, नही लगता था धोनी का पढ़ाई–लिखाई में मन

महेंद्र सिंह धोनी, आज के समय में इस नाम से पूरी दुनिया अच्छी तरह वाक़िफ़ है और सभी इन्हें काफ़ी ज़्यादा पसंद भी करते है. धोनी ने अपने जीवन में काफ़ी नाम कमाया है और पूरी दुनिया में अपने भारत देश का भी नाम रोशन किया है ऐसा इसलिए क्योंकि धोनी एक बहुत ही बड़े और महान क्रिकेटर है जो कि आज के समय में किसी को भी पहचान के मोहताज नही है और पूरी दुनिया इनकी दीवानी है. धोनी इस समय मीडिया में भी काफ़ी ज़्यादा सुर्ख़ियों में बने हुए है ऐसा इसलिए क्योंकि हालहि में धोनी को लेकर एक बहुत बड़ा खुलासा हुआ है और धोनी का असली सच पूरी दुनिया के सामने आ गया है जिससे सभी बेख़बर थे. धोनी को लेकर हुए इस खुलासे के बारे में बताए तो धोनी का कभी भी पढ़ाई–लिखाई में मन नही लगता था जिसके चलते आज भी हर जगह धोनी की ही बातें हो रही है. धोनी के कभी भी कक्षा में अच्छे नम्बर नही आए और इस बात का सबूत धोनी की 10वी और 12वी की मार्कशीट है जिससे साफ़ ज़ाहिर होता है कि धोनी का पढ़ाई–लिखाई में बिल्कुल भी मन नही लगता था. आगे आपको आर्टिकल में बताते है धोनी के इन दोनो कक्षाओं में कितने नम्बर आए थे.

धोनी का असली सच आया पूरी दुनिया के सामने, नही लगता था धोनी का पढ़ाई–लिखाई में मन

धोनी के कभी नही आए कक्षा में अच्छे नम्बर, अब जाकर सामने आया धोनी का सच

धोनी को आज के समय में पूरी दुनिया जानती है लेकिन इस समय धोनी मीडिया में अपनी निजी ज़िंदगी की वजह से सुर्ख़ियों में बने हुएहै ऐसा इसलिए क्योंकि हालहि में धोनी को लेकर एक बात सामने आई है जो कि यह है धोनी भले ही दुनिया के सबसे अच्छे और दिमाकदार कप्तान हो लेकिन धोनी का पढ़ाई–लिखाई में बिल्कुल भी मन नही था और ना ही उनके कभी अच्छे नम्बर आए है. आपको बता दे कि धोनी के 10वी और 12वी कक्षा में अच्छे नम्बर नही आए थे क्योंकि हालहि में उनकी मार्कशीट सामने आई है जिसमें देखा जा रहा है कि धोनी के 10वी कक्षा में तो 66 प्रतिशत बनी थी और 12वी में धोनी के 56 प्रतिशत बनी थी. जिससे साफ़ ज़ाहिर होता है की धोनी का पढ़ाई–लिखाई में बिल्कुल भी दिमाग नही था क्योंकि उन्हें तो क्रिकेट खेलना पसंद था. धोनी के इस सच से साफ़ ज़ाहिर होता है कि अगर आप के अंदर टैलेंट है तो पढ़ाई–लिखाई कुछ भी नही है.

इसे भी पढ़ें..  ऋषभ पंत को छोड़ इस पाकिस्तानी क्रिकेटर की दीवानी हुईं Urvashi Rautela, नाराज हुए फैन्स