लखीसराय के श्रीकिशुन कोड़ासी में भी डायरिया

लखीसराय के श्रीकिशुन कोड़ासी में भी डायरिया ने पसारा पांव, परेशानी में लोग

जाटी., सूर्यगढ़ा/लखीसराय। जिले के सूर्यगढ़ा प्रखंड के चंपानगर, नवकाडीह एवं मसूदन निमिया मुसहरी के बाद श्रीकिशुन मुसहरी में भी डायरिया पांव पसारने लगा है। सोमवार को श्रीकिशुन गांव में पांच लोग डायरिया से ग्रस्त होकर अस्पताल में भर्ती हो चुके हैं। जबकि 40 लोग इस रोग के शिकार हो चुके हैं। डायरिया से ग्रस्त लोगों में मधु कोड़ा की पत्नी सुशीला देवी (45), कैप्टन तूरी के पुत्र प्रेम कुमार (एक वर्ष), सुबकर कोड़ा के पुत्र पांचू कोड़ा (45) उसके पुत्र पीयूष कुमार (आठ वर्ष) एवं सीता कुमारी (11) शामिल है। इसके अलावा चंपानगर के मृगेंद्र यादव के पुत्र रघुवीर यादव (छह वर्ष) भी डायरिया से ग्रस्त है।

इसे भी पढ़ें..  नगर परिषद में डस्टबिन घोटाले की जांच रिपोर्ट तलब
जिले के सूर्यगढ़ा प्रखंड के चंपानगर नवकाडीह एवं मसूदन निमिया मुसहरी के बाद श्रीकिशुन मुसहरी में भी डायरिया पांव पसारने लगा है। सोमवार को श्रीकिशुन गांव में पांच लोग डायरिया से ग्रस्त होकर अस्पताल में भर्ती हो चुके हैं। जबकि 40 लोग इस रोग के शिकार हो चुके हैं।

सभी डायरिया पीड़ितों का इलाज सूर्यगढ़ा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में चल रहा है। एक दिन पूर्व ही चंपानगर के मृगेंद्र यादव सहित उसके परिवार के पांच लोग डायरिया से ग्रस्त हो चुके हैं। विदित हो कि सूर्यगढ़ा प्रखंड अंतर्गत चंपानगर, नवकाडीह एवं मसूदन निमिया मुसहरी में विगत एक सप्ताह से डायरिया का प्रकोप जारी है। उक्त तीनों गांव में अबतक 96 लोग डायरिया से ग्रस्त हो चुके हैं। जिसमें नवकाडीह में 68, चंपानगर में 22 एवं मसूदन निमिया मुसहरी में छह लोग डायरिया से पीड़ित हो चुके हैं।

इसके बाद श्रीकिशुन कोड़ासी में भी डायरिया पांव फैलाना शुरू कर दिया है। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सूर्यगढ़ा के प्रबंधक अनिल कुमार कुशवाहा ने बताया कि श्रीकिशुन गांव के सभी डायरिया पीड़ित का इलाज सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में कराया जा रहा है। जबकि श्रीकिशुन कोड़ासी के सभी कुआं, नाली एवं गांव के आस-पास गंदे जगहों पर ब्लीचिग पाउडर का छिड़काव कराया गया है। उक्त गांव में मेडिकल टीम भेज दिया गया है।

इसे भी पढ़ें..  महंगाई की मार, दूध-दही खाने से पहले देना होगा जीएसटी