“मस्जिद के मौलवी को हर महीने वेतन मिलता है और मंदिर के पुजारी को क्यों नहीं” – मंत्री, बिहार सरकार

पटना, बिहार: पूरे देश में इन दिनों कई विषयों पर बहस चल रही है. लाउडस्पीकर भी सुर्खियों में रहा। देश भर के मीडिया चैनलों और अखबारों ने भी लाउडस्पीकर के मुद्दे को प्राथमिकता दी। इस बीच बिहार के कानून मंत्री प्रमोद कुमार के एक बयान पर चर्चा शुरू हो गई है. प्रमोद कुमार का कहना है कि अगर मस्जिदों के मौलवियों को एक व्यवस्था के तहत वेतन दिया जा रहा है तो मंदिरों के पुजारियों को क्यों नहीं। उल्लेखनीय है कि बिहार में मस्जिदों और अन्य के मौलवियों को पांच से अठारह हजार तक वेतन देने की व्यवस्था की गई है. खास बात यह है कि मंत्री ने उन मंदिरों के पुजारियों को ही वेतन देने की बात कही है जो पंजीकृत हैं।

इसे भी पढ़ें..  ज्ञानवापी सर्वे : मुस्लिम पक्ष के वकील बोले- वजूखाना का फव्वारा को शिवलिंग बताया जा रहा है

मंदिरों के पुजारियों को उनकी तनख्वाह जरूर मिलनी चाहिए।

मंत्री का कहना है कि सरकार को मंदिर संचालन समिति की बैठक कर ऐसी व्यवस्था करनी चाहिए कि सब कुछ सुचारू रूप से चले। मंदिरों के पुजारियों को उनकी तनख्वाह जरूर मिले और पूजा और अन्य काम भी जारी रहे।

मंदिर के पुजारी को दी जाए एक निश्चित राशि- मंत्री प्रमोद कुमार

बिहार राज्य धार्मिक न्यास बोर्ड में करीब चार हजार मंदिर हैं। राज्य सरकार की ओर से उनके पुजारियों को वेतन देने की कोई व्यवस्था नहीं है। उन्हें वेतन या मानदेय दिया जाए। इसके अलावा किसी भी पंजीकृत मंदिर की समिति मंदिर की आय से मंदिर के पुजारी को एक निश्चित राशि दे- ऐसी मांग है मंत्री प्रमोद कुमार की।

इसे भी पढ़ें..  पैगंबर मोहम्मद पर नूपुर शर्मा का कमेंट क्या भारत झेल पाएगा इस्लामिक देशों को ?

सौ से अधिक मस्जिदें वक्फ बोर्ड के तहत पंजीकृत हैं।

बिहार के सुन्नी वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष का कहना है कि पटना में सौ से ज्यादा ऐसी मस्जिदें हैं जो वक्फ बोर्ड के तहत पंजीकृत हैं. इसके अलावा भी कई ऐसी मस्जिदें हैं जो वक्फ बोर्ड के अंतर्गत आती हैं।

आम तौर पर मस्जिदों के बाहर दुकानें होती हैं, जिनसे न सिर्फ आमदनी होती है बल्कि सरकार की ओर से करीब तीन करोड़ का अनुदान भी मिलता है. जिससे वहां वेतन देना संभव है। ऐसा प्रतीत होता है कि कहीं न कहीं वे पंजीकृत मंदिरों के लिए भी यही व्यवस्था चाहते हैं।

इसे भी पढ़ें..  दादा बनने की उम्र में आमिर कर रहे है तीसरी बीवी की तलाश