धरना दे रहे निलंबित कांग्रेस सांसदों को पूरी रात मच्छरों ने खूब काटा, VIDEO

धरना दे रहे निलंबित कांग्रेस सांसदों को पूरी रात मच्छरों ने खूब काटा, VIDEO ट्वीट कर बयां किया दर्द

संसद में निलंबन और मंहगाई के मुद्दे पर चर्चा की मांग को लेकर करीब 50 घंटे के विरोध प्रदर्शन पर बुधवार से धरने पर बैठे सांसदों को पूरी रात मच्छर ने खूब परेशान किया है। निलंबित कांग्रेस सांसद मनिकम टैगोर ने एक सांसद के हाथ पर बैठे मच्छर का वीडियो ट्वीट किया है। उन्होंने लिखा, “संसद में मच्छर है, लेकिन विपक्षी सांसद डरते नहीं हैं। मनसुख मंडाविया कृपया भारतीयों के खून की रक्षा करें, जिसे अडानी चूस रहे हैं।” टैगोर ने अपने ट्वीट में स्वास्थ्य मंत्री को भी टैग किया है।

वीडियो में एक सांसद को यह कहते हुए सुना जा सकता है कि, “गांधी जी के सामने संसद में यह मच्छर है। सांसद धरने पर बैठे हैं। यह संसद की मच्छर कहानी है।” इस वीडियो में फोन कैमरा घास पर जाता है जहां मच्छर भगाने वाली कॉइल जलती हुई दिखाई देती है।

सदनों के अंदर विरोध प्रदर्शन पर निलंबित सांसद संसद परिसर के अंदर गांधी प्रतिमा पर 50 घंटे के विरोध पर हैं, जो कल सुबह 11 बजे शुरू हुआ और शुक्रवार को दोपहर 1 बजे तक चलने वाला है। विरोध कर रहे सांसदों ने अनुरोध किया था कि उनके लिए पूरी रात एक वॉशरूम खुला रखा जाए और उनकी कारों को परिसर में आने और छोड़ने की अनुमति दी जाए। उन्होंने अध्यक्ष को एक पत्र भेजकर विरोध स्थल पर एक छोटा तंबू लगाने की अनुमति देने की मांग की है। स्पीकर मांगों पर विचार करने के लिए राजी हो गए हैं।

इसे भी पढ़ें..  मिशन 2024: सीमांचल से बिहार साधेंगे अमित शाह, जनभावना रैली में जुटेंगे 2 लाख लोग

धरने पर बैठे विपक्ष के लिए दही-चावल से लेकर गाजर के हलवे तक की व्यवस्था
संसद में निलंबन और मंहगाई के मुद्दे पर चर्चा की मांग को लेकर करीब 50 घंटे के विरोध प्रदर्शन पर बुधवार से धरने पर बैठे सांसदों के भोजन आदि की व्यवस्था के लिए विपक्षी पार्टियां विशेष इंतजाम कर रही हैं। इस प्रदर्शन में शामिल सांसदों के लिए दही-चावल, इडली-सांभर, गाजर का हलवा से लेकर फल तक की व्यवस्था की गई है। दिन की व्यव्स्था के लिए रोस्टर को इसके लिए बनाए गए व्हाट्सऐप ग्रुप पर साझा किया जा रहा है ताकि सभी को समय से जानकारी दी जा सके। 

सदनों के अंदर विरोध प्रदर्शन पर निलंबित सांसद संसद परिसर के अंदर गांधी प्रतिमा पर 50 घंटे के विरोध पर हैं, जो कल सुबह 11 बजे शुरू हुआ और शुक्रवार को दोपहर 1 बजे तक चलने वाला है।

किसी को नास्ते की तो किसी को डिनर की जिम्मेदारी
सूत्रों ने बताया कि पार्टियों ने फैसला किया है कि वे सांसदों के लिए क्षेत्रीय व्यंजन की व्यवस्था करने की कोशिश करेंगी। उन्होंने बताया कि बुधवार को द्रमुक सांसद तिरुचि शिवा द्वारा सांसदों के लिए इडली-सांभर के नाश्ते की व्यवस्था की गई। वहीं, द्रमुक ने दोपहर के भोजन के लिए चावल-दही की व्यस्था की जबकि तृणमूल कांग्रेस ने रात के खाने में रोटी, दाल, पनीर और चिकन तंदूरी की व्यवस्था की। द्रमुक की कनिमोझी जो इस व्यवस्था को देख रही हैं, वह गाजर के हलवे के साथ प्रदर्शन स्थल पर पहुंची। वहीं तृणमूल कांग्रेस ने फलों और सैंडविच की व्यवस्था की।

इसे भी पढ़ें..  Bihar में NDA को एक और झटका देने की तैयारी में CM Nitish, जानिए क्या है प्लान

सूत्रों ने बताया कि गुरुवार को द्रमुक नाश्ते की व्यवस्था करेगी जबकि टीआरएस को दोपहर के भोजन और आप को रात के खाने की जिम्मेदारी मिली है। आप पर ही प्रदर्शनस्थल पर सांसदों के लिए टेंट लगाने का जिम्मा है ताकि वे धूप से बच सकें। हालांकि, टेंट लगाने की अनुमति देने से प्रशासन ने इनकार कर दिया है।

इसे भी पढ़ें..  ज्ञानवापी में शिवलिंग: ज्ञानवापी मामले को 'औरंगजेब' से जोड़ने पर भड़के ओवैसी, कहा- शिवलिंग नहीं, बल्कि फव्वारा मिला

सूत्रों ने बताया कि पार्टियों ने स्वयं अपने नेताओं के प्रदर्शन स्थल पर बैठने का कार्यक्रम तय किया है जो निलंबित सांसदों का समर्थन करने के लिए उनके साथ एक या दो घंटे धरना स्थल पर बैठेंगे। उन्होंने बताया कि निलंबित सांसदों के प्रति एकजुटता प्रकट करने के लिए समाजवादी पार्टी के रामगोपाल यादव, झामुमो की महुआ माझी और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के नेताओं ने धरने के लिए समय दिया है जबकि उनके किसी सदस्य को निलंबित नहीं किया गया है। कांग्रेस और अन्य विपक्षी पार्टियों ने सुबह विभिन्न मुद्दों पर अलग-अलग स्थानों पर प्रदर्शन किया लेकिन शाम को महंगाई के मुद्दे पर एकसाथ आ गए। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता जयराम रमेश प्रदर्शन स्थल पर गए और कहा कि उनकी पार्टी विपक्षी पार्टियों द्वारा आयोजित दिन-रात के धरने में हिस्सा लेगी।