बिहार में जल्द शुरू होगा पीएमआरयू, मनमाने दामों पर दवा बेचने वालों पर होगी कार्रवाई- यह योजना बना रही है सरकार

आज के समय में लोगों की जिंदगी काफी तनावपूर्ण हो गई है। तनाव के कारण लोगों की जीवनशैली काफी प्रभावित होती रहती है। और व्यक्ति नशा करने को विवश है। हालांकि, आर्थिक रूप से संपन्न व्यक्ति के लिए दवाओं की कीमत और खर्च ज्यादा प्रभावित नहीं करते हैं। लेकिन इसका बोझ मध्यम और निम्न वर्ग पर बना हुआ है। दवाओं की कीमत भी हर समय बढ़ती रहती है।

PMRU will start soon in Bihar

अक्सर देखा जाता है कि वास्तविक कीमत से ज्यादा पैसे लेकर दवाएं खरीदी और बेची जाती हैं। चूंकि यह जीवन सुरक्षा के लिए जरूरी है, ऐसे में लोगों की मजबूरी में इन्हें मनमाने दामों पर खरीदना पड़ रहा है। इस संबंध में लंबे समय से लगातार मांग की जा रही थी कि दवाओं की ऐसी खरीद-बिक्री पर रोक लगाई जाए, लेकिन ऐसा नहीं हो सका। कोई ठोस और सख्त नियम न होने के कारण अब तक इस क्षेत्र में कड़े फैसले नहीं लिए जा सके हैं। लेकिन अब बिहार में दवाओं के मनमाने दाम पर रोक लगाने की तैयारी कर ली गई है। बिहार सरकार इस मामले को गंभीरता से ले रही है। इस संबंध में बिहार सरकार के बिहार स्वास्थ्य विभाग ने यहां मूल्य निगरानी संसाधन इकाई गठित करने का निर्णय लिया है।

इसे भी पढ़ें..  लखीसराय पुलिस ने जदयू नेता को किया गिरफ्तार, अभद्रता का लगा है आरोप

बिहार से पहले 15 राज्यों में PMRU का गठन हो चुका है, इस PMRU का काम दवाओं की वास्तविक कीमत के हिसाब से दवाओं की बिक्री की निगरानी करना होगा। यह इकाई देश में बिकने वाली सभी कंपनियों की दवाओं के बिक्री मूल्य पर नजर रखेगी। उम्मीद की जा सकती है कि पीएमआरयू बनने के बाद राज्य में ऊंचे दामों पर दवाओं की बिक्री पर लगाम लगेगी। बिहार से पहले 15 अन्य राज्यों में मूल्य निगरानी प्रसंस्करण इकाई का गठन किया जा चुका है।

इस संबंध में कुछ दिन पूर्व स्वास्थ्य विभाग के सचिव की अध्यक्षता में एक बैठक हुई थी। इस बैठक में राज्य के स्वास्थ्य अधिकारियों के साथ दवा कंपनियों के प्रतिनिधि भी थे जो समय-समय पर पीएमआरयू को दवाओं की कीमत की जानकारी देंगे। इस बैठक में पीएमआरयू के गठन को मंजूरी दी गई है। और उम्मीद की जा सकती है कि भविष्य में भी बिहार में मनमाने दामों पर दवाओं की खरीद-बिक्री पर रोक लगेगी।

इसे भी पढ़ें..  Bihar News: अपराध पर लगाम लगाने के लिए पुलिस अधिकारियों की समीक्षा बैठक, बीते महीने पकड़े गए थे 607 बदमाश