अग्निपथ स्कीम : विरोध में लखीसराय में फूंकी गई थी ट्रेन, अब नक्सलियों के साथ जुड़ा प्रोफेसर का नाम

अग्निपथ स्कीम : विरोध में लखीसराय में फूंकी गई थी ट्रेन, अब नक्सलियों के साथ जुड़ा प्रोफेसर का नाम

केंद्र सरकार की ओर से लाए गए अग्निपथ योजना के विरोध में पूरा देश में बवाल मचा. हालांकि कई जगह ट्रेन को भी आग के हवाले कर दिया गया. इससे ना सिर्फ राजस्व की क्षति हुई बल्कि आम आदमी की परेशानी बढ़ी.

लखीसराय में अग्निपथ योजना के विरोध में असामाजिक तत्वों के द्वारा ट्रेन में आग लगाया गया.

भागलपुर : केंद्र सरकार की ओर से लाए गए अग्निपथ योजना के विरोध में पूरा देश में बवाल मचा. हालांकि कई जगह ट्रेन को भी आग के हवाले कर दिया गया. इससे ना सिर्फ राजस्व की क्षति हुई बल्कि आम आदमी की परेशानी बढ़ी. लखीसराय में अग्निपथ योजना के विरोध में असामाजिक तत्वों के द्वारा ट्रेन में आग लगाया गया.

लखीसराय स्टेशन अग्निकांड में TMBU के प्रोफेसर का नाम आया सामने
बता दें कि लखीसराय स्टेशन परिसर में तोड़फोड़ किया गया, इसके साथ ही कई ट्रेनों को आग के हवाले कर दिया गया. जिसमें भागलपुर के तिलकामांझी विश्वविद्यालय के प्रोफेसर का नाम सामने आया है. इसको लेकर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ताओं ने तिलकामांझी विश्वविद्यालय में जमकर विरोध प्रदर्शन किया और उन पर विभागीय कार्रवाई को लेकर प्रतिकुलपति को मांग पत्र सौंपा.

इसे भी पढ़ें..  नालंदा, बिहार: नालंदा के सरकारी स्कूल में घटी घटना, कुछ दिन पहले सोनू ने की थी खराब व्यवस्था की शिकायत

ABVP ने की प्रोफेसर विलक्षण रविदास पर कार्रवाई की मांग
तिलकामांझी विश्वविद्यालय के ABVP संयोजक आशुतोष कुमार ने कहा लखीसराय ट्रेन जलाने वाले गिरफ्तार नक्सली ने प्रोफेसर विलक्षण रविदास का नाम लिया और उनके पास सबूत के रूप में पत्र भी प्राप्त हुए हैं, ऐसे में विश्वविद्यालय प्रशासन इनपर कार्रवाई क्यों नहीं कर रही है. इससे ठीक पहले इस मामले में कयास लगाया जा रहा था कि यह हिंसक प्रदर्शन छात्र तो नहीं कर रहे थे, इसके पीछे कोई बड़ी साजिश हो रही थी. अब इस मामले का खुलासा हुआ है.

17 जून को अग्निपथ स्कीम के विरोध में लखीसराय स्टेशन पर दो ट्रेनों में लगाई गई थी आग
लखीसराय में 17 जून को सेना के अग्निपथ स्कीम के विरोध में लखीसराय स्टेशन पर दो ट्रेन विक्रमशिला एवं जन सेवा में आग लगाने, तोड़-फोड़ करने एवं हिंसा फैलाने के मामले में पहले ही बड़ा खुलासा हुआ है. इसमें सीधे तौर पर नक्सलियों का कनेक्शन सामने आया था. जिन्होंने सुनियोजित साजिश के तहत हिंसा की घटनाओं को अंजाम दिया और ट्रेनों में आग लगाई थी.

इसे भी पढ़ें..  बिहार लखीसराय में लव, सेक्स और धोखा: महिला ने पुलिस जवान पर लगाए बेहद गंभीर आरोप बाद में पीड़िता को ब्लैकमेल करता रहा।

पुलिस ने किया खुलासा इस उपद्रव में नक्सली थे शामिल
इस बात का खुलासा करते हुए लखीसराय के एसपी पंकज कुमार ने बताया था कि स्पेशल इंटेलीजेंस ब्यूरो, तेलंगाना से सूचना मिलने के बाद पुलिस ने कार्रवाई करते हुए शहर के कबैया थाना क्षेत्र के गोसाईं टोला से स्पेशल एरिया कमिटी मेंबर हार्डकोर नक्सली मनश्याम दास उर्फ राहुल उर्फ सुदामा को गिरफ्तार किया. पूछताछ में यह बात साफ तौर पर सामने आई कि कुछ सफेदपोशों की मदद से अग्निपथ स्कीम के विरोध में लखीसराय स्टेशन पर ट्रेन में आगजनी की घटना को अंजाम दिया गया और इसमें नक्सलियों की संलिप्तता थी.

इसे भी पढ़ें..  जुलूस के लिए लाइसेंस जरूरी तभी बजेगा मुहर्रम पर डीजे

इस घटना में 7 लोगों को किया गया नामजद, जिनके नक्सलियों से कनेक्शन
एसपी पंकज कुमार ने बताया था कि अग्निवीर वाली घटना में जिन 7 लोगों को नामजद किया गया. उन लोगों ने एक ग्रुप तैयार किया था. जिन्होंने ट्रेन जलाने से लेकर विभिन्न तरह की हिंसा की घटना को अंजाम दिया. खास तौर पर ट्रेन को जलाने में इनकी अग्रणी भूमिका सामने आई. इस संबंध में गिरफ्तार किए लोगों से भी मनश्याम दास के संपर्कों की बात सामने आई और उस संबंध में पुलिस के पास साक्ष्य भी हैं.