जब Sonia को गुस्सा आया तो BJP के Smriti समेत सभी सांसद चुप हो गए

जब Sonia को गुस्सा आया तो BJP के Smriti समेत सभी सांसद चुप हो गए Advani को देनी पड़ी सफाई,

नयी दिल्ली, 28 जुलाई (भाषा) कांग्रेस ने बृहस्पतिवार को दावा किया कि सोमवार को लोकसभा में केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी समेत भारतीय जनता पार्टी के कई सांसदों एवं मंत्रियों ने पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी के साथ अमर्यादित और अपमानजनक व्यवहार किया तथा ऐसी स्थिति पैदा कर दी गई थी कि उन्हें (सोनिया को) चोट भी लग सकती थी।

मुख्य विपक्षी दल ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अपनी मंत्री और नेताओं के इस व्यवहार के लिए माफी मांगनी चाहिए।

मुख्य विपक्षी दल ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अपनी मंत्री और नेताओं के इस व्यवहार के लिए माफी मांगनी चाहिए।

कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी द्वारा राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू को ‘राष्ट्रपत्नी’ कहने को लेकर भाजपा सांसदों ने लोकसभा और राज्यसभा में हंगामा किया और सोनिया गांधी से माफी की मांग की। चौधरी का कहना है कि एक चैनल से बातचीत में उनके मुंह से एक बार चूकवश यह शब्द निकल गया था, लेकिन भाजपा तिल का ताड़ बना रही है।

कांग्रेस का कहना है कि लोकसभा के भीतर इसी विषय को लेकर भाजपा के सदस्यों और मंत्रियों ने सोनिया गांधी के साथ अपमानजनक व्यवहार किया।

पार्टी महासचिव जयराम रमेश ने एक बयान में दावा किया, ‘‘संसद में आज मंत्री स्मृति ईरानी ने सांसद एवं कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी जी से अमर्यादित व्यवहार किया व उन्हें अपमानजनक शब्द कहे।’’

इसे भी पढ़ें..  ज्ञानवापी मामले में 1991 के एक्ट का जिक्र तो बहुत है, लेकिन उसमें भी एक दिक्कत है...जानिए क्या है अपवाद नियम

उन्होंने कहा, ‘‘सोनिया गांधी जी, भाजपा सांसद रमा देवी जी से बात कर रही थीं। स्मृति ईरानी ने सोनिया गांधी जी को घेरकर बड़े ही अपमानजनक लहजे में उनको अपशब्द कहे। जब सोनिया जी ने उनसे शालीनता से कहा कि मैं आपसे बात नहीं कर रही हूं, मैं दूसरी सांसद से बात कर रही हूं तो स्मृति ईरानी चिल्लाकर बोलीं “आप जानती नहीं, मैं कौन हूं।’’

रमेश के अनुसार, कई अन्य पार्टियों के सांसद व कांग्रेस सांसद इस घटना के गवाह हैं।

उन्होंने सवाल किया, ‘‘ये कौन सी मर्यादा है? क्या एक सांसद, साथी सांसद से बात भी नहीं कर सकती? स्मृति ईरानी राजनीतिक तरीके से अपनी बात रख सकती हैं। वे एक वरिष्ठ सांसद और एक पार्टी की अध्यक्ष के साथ इस तरह के रवैए पर क्यों उतारू हैं? राजनीतिक विरोध अपनी जगह है लेकिन क्या किसी वरिष्ठ सांसद के साथ इस तरह का व्यवहार जायज है?’’

इसे भी पढ़ें..  पीएम मोदी गुजरात दौरे पर : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विपक्ष पर साधा निशाना, कहा- पहले किसान यूरिया के लिए लाठी खाया करते थे

लोकसभा में कांग्रेस के उप नेता गौरव गोगोई ने संसद परिसर में संवाददाताओं से कहा, ‘‘अधीर रंजन चौधरी पहले ही माफी मांग चुके हैं। अगर वे (भाजपा सदस्य) हमसे अपेक्षा करते हैं कि महिला नेता और राष्ट्रपति का सम्मान करें तो उन्होंने ऐसा व्यवहार क्यों नहीं दिखाया? सोनिया जी के साथ जो व्यवहार हुआ, वह ठीक नहीं है। आज सोनिया जी को शारीरिक रूप से चोट पहुंच सकती थी।’’

गोगोई ने कहा, ‘‘भाजपा के लोग सोचते हैं कि सोनिया जी डर जाएंगी तो यह उनकी भूल है। सोनिया जी एक निडर और शालीन नेता हैं। वह स्वयं भाजपा की महिला सांसदों के पास गईं और बहुत शालीन तरीके से बातचीत करना चाहती थीं। लेकिन उनकी शालीनता के उत्तर में भाजपा सांसदों द्वारा बहुत बुरा व्यवहार किया गया।’’

उन्होंने दावा किया, ‘‘भाजपा सांसदों और मंत्रियों ने उन्हें चारों तरफ से घेरकर ऐसा माहौल बनाया जिसमें उन्हें चोट पहुंच सकती थी। महिला सांसदों ने तो आपत्तिजनक व्यवहार किया ही, पुरूष सांसदों ने भी आपत्तिजनक बातें और व्यवहार किया। हमारी नेता निडर रहीं, शालीन बनी रहीं।’’

इसे भी पढ़ें..  हिजाब-लाउडस्पीकर पर विवादित बयान देने वाली रुबीना बोलीं- अगर ज्ञानवापी मंदिर है तो...

इससे पहले गोगोई ने ट्वीट किया, ‘‘आज भारत की एक बहुत ही वरिष्ठ नेता, जो बुजुर्ग महिला हैं और कोविड संक्रमण से उबर रही हैं, उन पर हमला किया गया। केंद्रीय मंत्रियों ने उनका अपमान किया और भाजपा सांसद उन्हें चोट पहुंचा सकते थे। भाजपा सांसदों ने संसद के भीतर जो किया, उससे उनकी भीड़ वाली मानसिकता प्रदर्शित होती है।’’

कांग्रेस सांसद ज्योत्सना चरणदास महंत ने कहा, ‘‘सोनिया जी भाजपा की महिला सांसद से बात करना चाहती थीं और उनके पास गईं। इसी बीच, वहां स्मृति ईरानी आ गईं और अंगुली दिखा-दिखाकर ऐसी बातें की जो अपमानजनक हैं।’’

उन्होंने कहा, ‘‘सोनिया जी, पूर्व प्रधानमंत्री की पत्नी हैं,देश की वरिष्ठ नेता हैं और बहुत वरिष्ठ सांसद हैं। उनके साथ यह व्यवहार देखकर दुख हुआ। इसके लिए प्रधानमंत्री जी को माफी मांगनी चाहिए।’’

कांग्रेस सांसद गीता कोड़ा ने कहा, ‘‘स्मृति ईरानी और कई अन्य भाजपा सांसदों ने जिस तरह से बर्ताव किया है, वो बहुत दुखद है। हमने किसी तरह वहां से सोनिया जी को बाहर निकाला। इसके लिए प्रधानमंत्री और स्मृति ईरानी को माफी मांगनी चाहिए।’’’